स्टॉक और बॉन्ड खरीदने की तुलना में Real Estate investment करना कहीं बेहतर विकल्प हो सकता है। बॉन्ड या स्टॉक खरीदने के विपरीत, रियल एस्टेट के संभावित खरीदार लीवरेज का उपयोग कर सकते हैं और कुल लागत के केवल एक हिस्से का पेमेंट करके और बाकी ईएमआई में पेमेंट करके संपत्ति खरीद सकते हैं।

किराये की संपत्ति (Rental Properties) हाउस फ़्लिपिंग (House Flipping) रियल एस्टेट निवेश समूह (Real Estate Investment Groups :REIGs) रियल एस्टेट निवेश ट्रस्ट (Real Estate Investment Trusts :REITs) ऑनलाइन रियल एस्टेट प्लेटफॉर्म (Online Real Estate Platforms)

भारत में Real Estate investment के 5 तरीके

-रियल एस्टेट स्थानीय रूप से संचालित होता है -अचल संपत्ति एक दीर्घकालिक प्रस्ताव है -रियल एस्टेट को कानूनी और वित्तीय समझ की आवश्यकता है -सहायता प्राप्त करें -किसी भी अन्य asset class की तुलना में real estate में अधिक seed money की आवश्यकता है -tax implications से सावधान रहें -अतिरिक्त monetary burdens के बारे में जानें

भारत में नए रियल एस्टेट निवेशकों के बारे में 7 आवश्यक तथ्य

नवी मुंबई पुणे मुंबई ठाणे बैंगलोर चेन्नई हैदराबाद नोएडा गुड़गांव अहमदाबाद

भारत में रियल एस्टेट निवेश के लिए कौन सा राज्य सबसे अच्छा है?

भारत में रियल एस्टेट में निवेश कैसे करें |  Real Estate investment in india पूरी जानकारी के लिए क्लिक करें 

White Dotted Arrow